How to Blog like Professional in Hindi? ब्लॉग्गिंग कैसे करें ?

Author: Kumar Sree


Wondering how to blog in 2020 like a professional? Then this article is for you. Following information will guide you to blog and where to blog.

How to blog?

ब्लॉग्गिंग एक बेहतर जरिया है अपने पास की जानकारियों को दुनिया के साथ बाँटना और एक अछि रोजगार भी प्राप्त करना। जो प्रत्याशी ब्लॉग्गिंग के खेत्र में नए हैं वो अक्षर द्वन्द में पड़ जाते हैं के आखिर ब्लॉग्गिंग करें तो कैसे करें! चलिए सबसे सरल तरीके को समझते है। 

ब्लॉग्गिंग इतनी काम्प्लेक्स हैं नहीं जितनी यूट्यूब और दूसरे माध्यम पर बताये जाते हैं। आप खुदसे सवाल करिये ब्लॉग्गिंग क्या है और इसका प्रयोग क्यों होता हैं ? अगर ये दो सवाल के जवाब आपके पास है तो आप तैयार हैं ब्लॉग्गिंग के लिए। 

ब्लॉग्गिंग क्या है ? What is Blogging?

नियमित रूप से आर्टिकल लिखना एक ब्लॉग है। 

इसका मतलब जो ब्लॉग्गिंग करना चाहते हैं उन्हें आर्टिकल लिखने होंगे। 

अब सवाल ये है के आर्टिकल कहाँ पर लिखें ?

आर्टिकल एक वेबसाइट में लिखा जाता है। 

वेबसाइट ! नाम सुनते ही बहुत सारे प्रत्याशी चौंक जाते है। दिमाग में एहि चलता रहता है के कोडिंग नहीं आती , वेबसाइट कैसे बनाये और उसमे आर्टिकल कैसे लिखें ?

कल्पना करिये किसीने आपके लिए सारे कोडिंग कर दी है और आपको बस जैसे ईमेल लिखे जाते हैं वैसे ही आर्टिकल लिखनी पड़े तो कैसे होगा ?

और ये सच है, आपके लिए बनी बनाई वेबसाइट पूरी तैयार है और आपको बस आर्टिकल लिखना है। 

वो वेबसाइट हैं - 

१. ब्लागस्पाट (Blogspot)

२. वर्डप्रेस (Wordpress)

३. विक्स (Wix)

४. वीब्ली (Weebly)

५. मेडियम (Medium)

Blogspot

सबसे अधिक लोक प्रिय फ्री ब्लॉग्गिंग प्लेटफार्म है ब्लागस्पाट। कारण ब्लागस्पाट गूगल का प्रोडक्ट है और दूसरा आप गूगल के एडसेंस के एड् आप इस्तेमाल कर सकते हैं। 

Wordpress

ब्लॉग्गिंग की दुनिया में सबसे अधिक और एक नाम कमाने वाली कंपनी है वर्डप्रेस। वर्डप्रेस पर भी आप फ्री में ब्लॉग्गिंग कर सकते हैं। वर्डप्रेस वेबसाइट पर ब्लॉग्गिंग अकाउंट बना कर ब्लॉग करते हैं। और हाँ वर्डप्रेस सॉफ्टवेयर पैकेज के रूप में भी उपलब्ध है। जो लोग अपनी खुद की होस्टिंग और डोमेन नाम से वेबसाइट चलाना चाहते हैं वो लोग ये सॉफ्टवेयर पैकेज अपने वेबसाइट पर इनस्टॉल करते हैं। इससे कोडिंग की झंझट से मुक्ति मिलती है और जैसे ईमेल लिखा जाता है वैसे ही आर्टिकल लिखने में मदद मिलती है। 

अगर आप होस्टिंग, डोमेन नाम क्या है नहीं जानते हैं तो घबराइए नहीं , आगे के ब्लॉग में जानेंगे इनके बारेमे। 

wix

विक्स और एक प्लेटफार्म है ब्लॉग्गिंग के लिए और यहाँ पर भी फ्री में ब्लॉग्गिंग किया जाता है। विक्स अपने पसंद मुताबिक वेबसाइट बनाने कि विकल्प देता है। 

weebly

वीब्ली भी एक नामचीन ब्लॉग्गिंग प्लेटफार्म है।  यहाँ पर भी आप फ्री में ब्लॉग्गिंग कर सकते हैं। 

Medium

मेडियम और एक सबसे खूबसूरत प्लेटफार्म है ब्लॉग्गिंग के लिए। इस प्लेटफार्म पर सिर्फ ब्लॉग्गिंग किया जा सकता है। यहाँ आर्थिक उपार्जन संभव नहीं है। 

तो इन् सारे प्लेटफार्म पर आप रोजाना आर्टिकल लिख सकते हैं। 

ऐसे प्लेटफार्म को "कंटेंट मैनेजमेंट सिस्टम"(Content Management System) भी कहा जाता है। कारण ऐसे प्लेटफार्म का मकशद होता है ब्लॉगर को कोडिंग के झंझट में ना डाल कर सीधे आर्टिकल लिखने का विकल्प देना। 

ये तो थे फ्री ब्लॉग्गिंग प्लेटफार्म के बारेमे। पेड ब्लॉग्गिंग के बारेमे जानते हैं। 

फ्री ब्लॉग्गिंग में द्विधा ये है के इसमें आप मोनेटिज़शन (monetisation) सीधे रूप से नहीं कर सकते हैं।  जैसे ब्लागस्पाट पर आपके वेबसाइट जब तक ६ महीने पुराणी नहीं हो जाती आप गूगल के एडसेंस नहीं लगा सकते हैं। उसके बाद जो भी एड् से एअर्निंग होगी उसका ६५  % ब्लागस्पाट ले लेगा। दूसरी और अगर कोई चाहता हैं जैसे ही वेबसाइट तैयार हो ब्लागस्पाट पर गूगल का एडसेंस एड् लगाएं तो उनको डोमेन नाम खरीदना होगा लगाना होगा। 

ऐसे वजह से लोग होस्टिंग और डोमेन नाम खरीदते हैं। 

होस्टिंग क्या है ? What is Hosting?

एक वेबसाइट को चलाने के लिए दो चीज़ों की आवस्यकता होती है।  एक है होस्टिंग और दूसरा है डोमेन नाम।  डोमेन नाम जैसे के फेसबुक.कॉम , गूगल.कॉम,ज्ञानोल.कॉम। ये नाम रजिस्टर्ड हैं और पूरे विस्व में सिर्फ किसी एक कंपनी को ये डोमेन नाम उपलब्ध होता है। इसका मतलब डोमेन नाम एक यूनिक वेबसाइट का नाम है जिसे हमें खरीदना होगा। दूसरा चीज़ हैं होस्टिंग। एक वेबसाइट को चलाने के लिए उसके कई सारे फाइल जिम्मेदार होते हैं। इन सारे फाइल को हमें किसी एक ख़ास जगह पर रखना होता हैं जिसको इंटरनेट के मदद से ब्यबहार कर सके। इसी ख़ास जगह को होस्टिंग कहा जाता है। 

होस्टिंग और डोमेन नाम कहाँ से खरीदें ?

आज के तारीख में होस्टिंग और डोमेन राम रजिस्ट्रेशन बहुत सारे कंपनियां दे रखी हैं। 

-गो डैडी (Godaddy)

- ब्लू होस्ट (BlueHost)

- होस्टगैटोर (Hostgator)

- होस्टिंगर (Hostinger)

- बिग रॉक (Big Rock)

एक नयी वेबसाइट बनाने के लिए सबसे पहले निर्णय लें आपकी वेबसाइट की डोमेन नाम क्या होगा ? 

मिसाल के तौर पर : gyanol.com

उसके बाद आपको चेक करना होगा ये डोमेन नाम उपलब्ध है या फिर किसीने रजिस्टर कर रखा है। किसी भी डोमेन रजिस्ट्रार (ऊपर दिए गए लिस्ट देखिये ) के वेबसाइट पर जा कर सर्च कर सकते हैं। अगर उपलब्ध होगा तो आपको तुरंत रजिस्टर कर लेना है। 

आम तौर एक डोमेन नाम ९० रूपए से लेकर ९०० रूपए तक होता है।  अगर आप .com वाली domain लेंगे तो वो ८०० रूपए के आस पास गिरेगा। और अगर आप .in wali domain लेते हैं तो वो आपको ५०० रूपए के आस पास गिरेगा और अगर आप .xyz domain खरीदने जायेंगे तो वो आपको ९० रूपए के आस पास गिरेगा। 

और ये कीमत में फरक डिमांड की वजह से है। मेरा सुझाव आपसे है के आप .in or .com वाली डोमेन नाम रजिस्टर करें। 

डोमेन रजिस्ट्रेशन की कीमत एक रजिस्ट्रार से दूसरे रजिस्ट्रार में फरक होता है। इसलिए आप सभी रजिस्ट्रार पर डोमेन चेक करें और जहाँ आपको सबसे कम दाम पर मिले वहां से आप खरीद लें। बहुत बार डिस्काउंट कूपन भी इंटरनेट पर मिलते हैं उनका प्रयोग कर भी आप अछि डिस्काउंट पा सकते हैं। 

डोमेन राम रजिस्ट्रेशन के बाद अब बारी है होस्टिंग की।  होस्टिंग चार तरीके के होते हैं। 

१. शेयर्ड होस्टिंग (Shared Hosting)

२. वर्चुअल प्राइवेट सर्वर होस्टिंग (Virtual Private Server Hosting)

३. क्लाउड होस्टिंग (Cloud Hosting)

४. डेडिकेटेड होस्टिंग (Dedicated Hosting)

सबसे सस्ती होस्टिंग होती हैं - शेयर्ड होस्टिंग (४०० रूपए - ९०० रूपए प्रति माह) किसी भी नए ब्लॉगर के लिए शेयर्ड होस्टिंग सबसे बेस्ट होता है। वर्चुअल प्राइवेट सर्वर शेयर्ड होस्टिंग से अधिक मेहेंगी होती है। उससे अधिक मेहेंगा होता है क्लाउड होस्टिंग। और सबसे अधिक मेहेंगा होता है डेडिकेटेड होस्टिंग। डेडिकेटेड होस्टिंग १५००० रूपए प्रति माह कम से कम किराये पर मिलता है। 

 शेयर्ड होस्टिंग का मासिक किराया होस्टिंग सर्विस प्रोवाइडर के ऊपर निर्भर करता है। एक सर्विस प्रोवाइडर शेयर्ड होस्टिंग ३०० रूपए प्रति माह में दे रखे होते हैं तो दूसरा ९०० रूपए प्रति माह। आप सारे वेबसाइट पर सर्च करें और जो शेयर होस्टिंग आपको पसंद आये। वो खरीद लें। 

शेयर्ड होस्टिंग की अछि बात ये हैं के सभी सर्विस प्रोवाइडर cpanel दे रखें हैं। जिससे सिर्फ एक क्लिक से आप वर्डप्रेस फ्री में आपके वेबसाइट के लिए इनस्टॉल कर सकते हैं और बिना कोडिंग किये हुए आप एक खूबसूरत वेबसाइट बना सकते हैं। 

याद रखें - १०० में से ८० वेबसाइट जो आज के तारीख में ब्लॉग्गिंग से लाखों कमा रही हैं वो वेबसाइट सारे वर्डप्रेस से बानी हुयी है। 

ये तो हो गया ब्लॉग्गिंग के लिए वेबसाइट कैसे बनाये। अब आर्टिकल की बारी। 

ब्लॉग आर्टिकल कैसे लिखें?

ब्लॉग आर्टिकल में दो मुख्य अंश होते हैं -

१. हैडिंग (Article Heading)

२. आर्टिकल बॉडी (Article Body)

हैडिंग 

हैडिंग वो पहला हेड लाइन जिसको हर कोई पहले पढता है।  ये ब्लॉग पोस्ट का टाइटल होता है। 

आर्टिकल बॉडी 

ये आर्टिकल का सरीर होता है जहाँ सारी जानकारी बिस्तार रूप से लिखा जाता है।  

आर्टिकल बॉडी में हम किसी भी आर्टिकल को सेक्शन में लिखते हैं ताकि रो पढ़ने वाले हैं उनको आर्टिकल सरल रूप से समझ में आजाये।  जैसे हैडिंग, सब हैडिंग, फिर सुब हैडिंग। जरुरी पॉइंट्स को लिस्ट बना कर लिखना इत्यादि।  

मूल मकशद एहि होता है के आर्टिकल बॉडी में जो जानकारी हैं वो पढ़ने वाले विजिटर को अछि से समझ में आजाये। 

अब अहम् सवाल :

ब्लॉग कैसे करें समझ गए तो क्या हम ब्लॉग्गिंग के लिए तैयार हैं ?

जवाब है नहीं। ब्लॉग्गिंग के लिए हमें तीन और विसयों को अच्छे से समझना होगा - (१ ) कीवर्ड रिसर्च (२) सर्च इंजन ऑप्टीमाइजेसन (३) इंटरनेट ट्रैफिक 

इन तीन विसयों को समझने के बाद समझेंगे एक ब्लॉग आर्टिकल कैसे लिखें प्रोफेशनल की तरह। 



Leave a reply